केरल में दिन दहाड़े युवती की हत्या का काला सच, मीडिया मौन – देखें हत्या का वायरल विडियो

केरल में दिन दहाड़े युवती की हत्या का काला सच, मीडिया मौन

केरल में दिन दहाड़े युवती की हत्या का काला सच, मीडिया मौन - देखें हत्या का वायरल विडियो

एक वीडियो सोशल मीडिया और वायरल होता है

जिसमें लिखा होता है कि एक आरएसएस समर्थक महिला को दिन दहाड़े मुस्लिमो ने गोली मारी

 

इसी के साथ सभी presstitute चैनल और News sites पर इस news को दूसरी दिशा में मोड़ने का कार्य वामपंथी बिकाऊ मीडिया द्वारा युद्ध स्तर पर आरंभ हो जाता है।

Loading...

 

2014 के बाद से वामपंथ एक अजीब पशोपेश में है जिसके कारण वह यह नही निर्णय कर पा रहा कि सही कदम क्या हो और गलत कदम क्या हो? ऐसा प्रतीत होता है कि वह हर कदम को मोदी सरकार के विरुद्ध बड़े स्तर पर भुनाने में व्यस्त रहकर कोई अवसर नही चूकना चाहता। और इसी चक्रव्यूह में वामपंथ फंस गया ।

जैसे ही यह वीडियो वायरल हुआ वैसे ही वामपंथी निर्देशानुसार सभी सुपारी मीडिया समूहों ने इसका खंडन करना आरम्भ कर दिया कि वह महिला जिसे गोली मारी गई है वह आरएसएस की समर्थक नही है, इसे मानवीयता की सबसे गिरी हुई हरकत कहा जाए तो गलत नही होगा।

बजाय इस बयान के वामपंथी सुपारी मीडिया समूहों को यह मांग उठानी चाहिए थी कि उक्त महिला की हत्या की जांच हो। आखिर शासन और प्रशासन का कोई खौफ नही कि आप किसी को भी दिन दहाड़े गाड़ी से निकाल कर गोली मार दो।

वामपंथी वेश्याई समाचार समूहों का यह काला चेहरा इसलिए भी शर्मनाक है क्योंकि गत सप्ताह गौरी लंकेश की हत्या पर यही लोग सीधे सीधे आरएसएस और बीजेपी पर आरोप लगा रहे थे।

यहां उल्लेखनीय है कि वीडियो में कुछ ज्ञात नही होता कि कौन किस संगठन से है न तो मृतक और न ही हत्यारे, परन्तु जिस प्रकार वामपंथी वेश्याई मीडिया समूहों ने इस मामले की उच्चस्तरीय जांच की मांग न उठा कर इसको रफा दफा करने का प्रयास किया उससे यह प्रमाणित होता है कि हत्या करने वाले निश्चित ही वामपंथी विचारधारा से सबन्ध रखते हैं।

उल्लेखनीय है कि विगत कुछ वर्षों में केरल एक ऐसा राज्य वैन गया है जहां ओर दिन दहाड़े हत्याएं होती हैं, पुलिस और शासन-प्रशासन द्वारा वामपंथी हत्यारों को पूर्ण संरक्षण उपलब्ध करवाया जाता है जिससे कि हत्यारे निडर होकर हत्याएं करके ऐशो आराम के साथ खुला घूम रहे हैं।

Follow us on facebook -