फरहा फ़ैज़ बनी लक्ष्मी, सरे आम टीवी पर पीटा था मौलवी को

सर्वोच्च न्यायालय की मुस्लिम वकील फरहा फ़ैज़ ने इस्लाम छोड़ अपनाया सत्य सनातन धर्म, कहा – कम से कम यहाँ वस्तु तो नहीं समझी जाउंगी।

फरहा फैज अब लक्ष्मी बन चुकी हैं, उन्होंने इस्लाम त्याग सत्य सनातन हिन्दू धर्म स्वीकार कर लिया है, वो एक मर्दानी महिला हैं, जो जीवन में कभी किसी कट्टरपंथी के सामने नहीं झुकी।

वो एक ऐसी योद्धा है जिन्होंने हक़ और सम्मान की लड़ाई जीवन भर लड़ी और आख़िरकार उन्होंने एक और सख्त और अच्छा फैसला करते हुए अरबी मजहब इस्लाम को त्याग सत्य सनातन हिन्दू धर्म को स्वीकार कर लिया है।

अब फरहा फैज का नाम लक्ष्मी है, ये वही हैं जिनके ऊपर एक कट्टरपंथी मौलाना ने लाइव टीवी डिबेट के दौरान हमला कर दिया था जब वो कट्टरपंथी का विरोध कर रही थी, अभी उस जिहादी कट्टरपंथी मौलाना की खातिरदारी योगी सरकार यूपी में अच्छे से कर रही है।

फरहा फैज या अब कहें की लक्ष्मी, नारी शक्ति की एक मिसाल बन चुकी है, हजारों मुस्लिम महिलाएं उनसे जुडी हुई है, और लक्ष्मी मुस्लिम महिलाओं के हक़ की लड़ाई लड़ रही है, लक्ष्मी बनने के बाद उन्होंने कहा की – मैंने सनातन धर्म इसलिए स्वीकार किया ताकि मुझे सम्मान महसूस हो, इस धर्म में कम से का मुझे कोई वस्तु तो नहीं समझेगा।

सनातन धर्म में तो महिलाओं की भी पूजा होती है, देवी के लिए व्रत रखा जाता है, इस धर्म में मुझे सम्मान मिलेगा इसलिए मैंने सनातन धर्म को स्वीकार किया है।

सनातन धर्म स्वीकार करने बाद लक्ष्मी ने ये भी कहा की – मुल्ला मौलानाओ के खिलाफ मेरी लड़ाई जारी रहेगी, और एक न एक दिन मुल्ला मौलानाओं को हम शिकस्त देंगे और मुस्लिम महिलाओं को उनका सम्मान वापस दिलाएंगे।

Loading...

लक्ष्मी ने एक अच्छा कदम उठाया है, और हम समस्त हिन्दुओं की ओर से उनका सत्य सनातन धर्म में स्वागत करते है, यहाँ उनको एक महिला ही समझा जायेगा कोई वस्तु नहीं, लक्ष्मी बधाई की पात्र हैं, इश्वर उनके जीवन को मंगलमय करे।

Follow us on facebook -

Previous articleदण्डधारण का महत्व