याद आया मुगल आधीनता का समय, 350 साल पहले भी इस मुगल ने पटाखों पर लगाया था प्रतिबंध

याद आया मुगल अधीनता का समय, 350 साल पहले भी इस मुगल बादशाह ने पटाखों पर लगाया था प्रतिबंधइतिहास अपने आप को दोहराता है 350 साल पहले भी इस मुगल ने पटाखों पर लगाया था प्रतिबंध

हाल में  सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली और एनसीआर में एक नबम्वर तक पटाखों की बिक्री पर रोक लगा दी है जिससे एक नई बहस छिड़ गयी है और लोगो में आक्रोश है.

आपको बता दें आज से लगभग साढ़े तीन सौ साल पहले जब देश मुगलों के अधीन था अर्थात गुलाम था तब भी पटाखों पर रोक लगी थी.
याद आया मुगल अधीनता का समय, 350 साल पहले भी इस मुगल बादशाह ने पटाखों पर लगाया था प्रतिबंधइसी बीच राजस्थान कैडर के वरिष्ठ आईएएस ऑफिसर संजय दीक्षित ने एक दिलचस्प चीज लोगों के सामने रखी है. उन्होंने बीकानेर स्टेट आर्काइव में सुरक्षित रखा औरंगजेब का वह फरमान शेयर किया है, जिसमें उसने अपने शासनकाल में आतिशबाजी पर प्रतिबंध लगाया था.

संजय का दावा है कि यह वही मूल फरमान है, जो औरंगजेब ने सुनाया था. साथ में उन्होंने उसका हिंदी अनुवाद भी शेयर किया है.

Loading...

याद आया मुगल अधीनता का समय, 350 साल पहले भी इस मुगल बादशाह ने पटाखों पर लगाया था प्रतिबंधकथित फरमान के मुताबिक, ’27 शव्वाल सन् जलूस 10 औरंगजेब आलमगीर 8 अप्रैल 1667 ई. जुमलतुलमुल्क को (औरंगजेब ने) फरमाया है कि बादशाह के सूबों के अधिकारियों को लिख दो कि आतिशबाजी पर रोक लगा दें.

फौलादखां को भी शाही हुक्म हुआ है कि शहर में घोषणा कर दें कि कोई आतिशबाजी (वह चीजें जो खुशी और शादी के मौके पर बारूद से बनाकर छोड़ी जाएं) ना करें.’

Follow us on facebook -