छात्रों के जींस पहनने पर इस मेडिकल कॉलेज ने लगाया प्रतिबंध

तिरुअनंतपुरम : शैक्षिक रूप से संपन्न और देश में सबसे अव्वल माने जाने वाले केरल के एक कॉलेज में छात्रों के जींस पहनने पर प्रतिबंध लगाने का मामला सामने आया है।

छात्रों के जींस पहनने पर इस मेडिकल कॉलेज ने लगाया प्रतिबंध

तिरुअनंतपुरम के एक सरकारी मेडिकल कॉलेज ने एमबीबीएस के छात्रों पर क्लास के दौरान एवं मरीजों से बात करते वक्त जीन्स, लैगिंग और शॉर्ट टॉप एवं ‘आवाज वाले आभूषण’ पहनने को बैन कर दिया है।

कालेज ने इसके साथ ही कैंपस में ओवरकोट पहनना और हर वक्त अपना आईकार्ड पहने रखना भी जरूरी कर दिया है। कॉलेज प्रशासन का कहना है कि इस ड्रेस कोड का उद्देश्य वार्ड में जाने वाले छात्रों को किसी भी प्रकार के संक्रमण से और लड़कियों को अवारा लड़कों से बचाना है।

Loading...

बताया जा रहा है कि, इस संबंध में शुक्रवार को त्रिवेन्द्रम मेडिकल कॉलेज के प्रधानाध्यापक ने सर्क्युलर जारी किया। सर्क्युलर में लड़कों से कहा गया है कि वे अपनी ड्रेस साफ-सुथरी रखें और फॉर्मल ड्रेस व जूते पहनकर आएं।

वहीं, छात्राओं से कहा गया कि कक्षाओं में तथा मरीजों से मिलते वक्त शॉर्ट टॉप, जीन्स, लैगिंग, चप्पल और ‘आवाज वाले गहने’ नहीं पहनें बल्कि चूड़ीदार पाजामा या साड़ी पहनी जाए।

इस मामले पर चिकित्सा कॉलेज परिसंघ के अध्यक्ष डॉ. संतोष ने कहा कि, ‘संस्थान का एक ड्रेस कोड हो सकता है लेकिन इसमें फर्क है। जींस पहने में बुराई क्या है ? एक बहु सांस्कृतिक परिवेश में समावेशी होना चाहिए। हम इस तरह से सर्क्युलर का बिल्कुल भी समर्थन नहीं करते हैं। समय बदल चुका है। सहजता का स्तर भी बदल चुका है।’

Follow us on facebook -