महादेव की नगरी काशी में हज यात्रियों ने लगाये गये “पाकिस्तान जिंदाबाद” के जहरीले नारे।

महादेव की नगरी काशी में हज यात्रियों ने लगाये गये “पाकिस्तान जिंदाबाद” के जहरीले नारे।

महादेव की नगरी काशी में हज यात्रियों द्वरा लगाये गये "पाकिस्तान जिंदाबाद" के जहरीले नारे।
संकेतात्मक तस्वीर

मामला हिन्दू धर्म में सर्वाधिक पवित्र नगरों में से एक माने जाने वाले वाराणसी का है जहाँ शुक्रवार की रात को चौबेपुर थाना क्षेत्र का धौरहरा गांव पाकिस्तान समर्थक नारों से जब गूंज उठा तब तबारक खान (80) हज यात्रा से रात गांव पहुंचे। हज यात्रा करने जाओ अरब में और नारे लगाओ पाकिस्तान के वो भी भारत में रहते हुए ऐसे लोगो को तो भारत में रहने का हक़ नहीं होना चाहिए।

नारेबाजी के दौरान गांव स्थित पठान टोली निवासी तबारक खान कार बेटा सरफराज खान धौरहरा कुटी पर कुछ पड़ोसियों के साथ मौजूद था। वहा पहुंचे सभी लोग मोबाइल की रोशनी में तबारक का स्वागत कर घर ले जाने लगे तभी वहा मौजूद भीड़ ने पाकिस्तान के नारे लगाना शुरू कर दिया। इसका विरोध करने आये लोगो के साथ भी अभद्र व्यवहार किया। इसी बीच वहा के गर्मिणो ने इसे अपने मोबाइल में कैद कर लिया।

रात में हुई इस घटना के विरोध में सभी ग्रामीण शनिवार की सुबह धौरहरा कुटी स्थित राम जानकी मंदिर के बाहर धरना दे दिया और जमकर आतंकवाद पलने वाले पाकिस्तान के खिलाफ नारेबाजी की। घटना की जानकारी का पता लगते ही वहा पुलिस पहुंच गयी और अधिकारियों ने लोगो को समझाकर स्तिथि पर काबू पाया। ग्रामीण पुलिस अधीक्षक अमित कुमार ने कहा कि धौरहरा में एक पक्ष की ओर से पाकिस्तान समर्थक नारे लगाने की कुछ ग्रामीणों ने शिकायत की है।

इस तनाव को देखते हुए आसपास के स्कूल और बाजार तक बंद कर दिए गए। कार्यवाही के दौरान पुलिस को ग्रामीणों द्वारा बनाई गयी वीडियो और ऑडियो हाथ लगी है। बता दे कि पाकिस्तान समर्थक नारेबाजी के मामले में ग्र्रामीणों ने चार अज्ञात लोगों के खिलाफ तहरीर दी है। इस विरोध के चलते अपनी सफाई में तबारक के परिवार के सदस्यों का कहना था, ‘स्वागत के दौरान दो लड़के शराब पी रहे थे। संभवत: उन्होंने ही इस तरह की अफवाह फैलाई है। पाकिस्तान के समर्थन में कोई नारेबाजी नहीं हुई थी।” ग्रामीणों से मिले सबूतों की जांच कराई जा रही। लोगों के भारी विरोध व तनाव को देखते हुए गांव में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

Loading...

ये वही लोग हैं जो मुसीबत आदि में भारत को याद करतें हैं रहना भारत में चाहतें हैं, भारत का खातें हैं और गुणगान पाकिस्तान का करतें हैं।

#तस्वीर संकेतात्मक हैं 

Follow us on facebook -