ताज महल में किया गया शिव चालीसा का पाठ, ताज को बताया ‘तेजोमहालय’

ताज महल में किया गया शिव चालीसा का पाठ, ताज को बताया ‘तेजोमहालय’

ताज महल का मकबरा और शिव मंदिर विवाद बढ़ता ही जा रहा है। इसी के चलते सोमवार को हिंदूवादी संगठन के कार्यकर्ताओ ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ताज महल दौरे से पहले ताज महल में शिव चालीसा का पाठ किया। हालांकि केन्द्रीय सुरक्षा औद्योगिक बल (सीआईएसएफ) ने कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया और माफीनामा लिखवाने के बाद ही उन्हें छोड़ा गया।

गौरतलब है की योगी 26 अक्टूबर को आगरा आ रहे हैं। वह 30 मिनट तक ताज महल में रहेंगे। अलीगढ़ तथा हाथरस से कई हिंदूवादी संगठन के कार्यकर्ता सोमवार को ताज महल पहुंचे। वे अपने साथ कथित रूप से शिव चालीसा लेकर आए थे। ताज महल में पहुंचने के बाद वीडियो प्लेटफॉर्म पर शिव चालीसा का पाठ किया। इसके बाद सीआईएसएफ कर्मियों ने उन्हें पकड़ लिया।

हिंदू युवावाहिनी के अलीगढ़ के महानगर अध्यक्ष भारत गोस्वामी ने कहा, ‘‘हिंदूवादी सरकार में ‘तेजोमहालय’ में पूजा से रोका गया है। सोमवार को शिव की पूजा की जाती है, इसलिए ‘तेजोमहालय’ में शिव चालीस का पाठ किया।’’

Loading...

वहीं इस संबंध में अधीक्षण पुरातत्वविद (आगरा) विक्रम भुवन से बात की गई तो उन्होंने बताया कि ताजमहल में हर किसी का मोबाइल तो चेक नहीं किया जाता। उक्त लोग मोबाइल में कुछ देख रहे थे। इस दौरान सीआईएसएफ कर्मियों ने उन्हें देख लिया और उसी ने बताया कि वे उक्त पाठ कर रहे हैं। बाद में इन लोगों द्वारा अपनी गलती स्वीकारने के बाद सीआईएसएफ ने उन्हें छोड़ दिया। इन लोगों के पास कोई किताब नहीं थी।

आपको बता दे ताजमहल को तेजोमहालय बताने के मुद्दा नया नही है। इस पर अनेक विशेषज्ञों ने अनेको शोध कियें है, जिनमे पी.एन. ओंक प्रमुख है।

The True Story of the Taj Mahal By P. N. Oak

देखें विडियो :-

Follow us on facebook -