एसएससी पेपर लीक : छात्रो के उग्र प्रदर्शन के आगे झुकी सरकार, सीबीआई जांच को दी हरी झंडी

नई दिल्ली : कर्मचारी चयन आयोग – एसएससी पेपर लीक और परीक्षा में धांधली को लेकर छात्रों के प्रदर्शन के सामने झुकते हुए आज सरकार ने मामले की सीबीआई से जांच करने की मंजूरी दे दी है।

एसएससी पेपर लीक : छात्रो के उग्र प्रदर्शन के आगे झुकी सरकार, सीबीआई जांच को दी हरी झंडी

विदित हो कि 27 फरवरी से बड़ी संख्या में देशभर से आए छात्र एसएससी पेपर लीक होने के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे। प्रदर्शन को दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी समर्थन देते हुए सीबीआई जांच की मांग की थी।

मामले के राजनीतिक तूल पकड़ने के बाद आखिरकार सरकार ने सीबीआई जांच की मंजूरी दे दी थी। जिसके बाद कहा जा रहा है कि उग्र छात्रो का प्रदर्शन अब ठंडा पड़ सकता है वही कर्मचारी चयन आयोग के बाहर प्रदर्शन कर रहे छात्रों का कहना है कि लिखित जानकारी आने के बाद ही विरोध खत्म किया जाएगा।

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, ‘प्रदर्शनकारी छात्रों की मांग मानते हुए मामले की सीबीआई से जांच के आदेश दे दिया गया है। हम उम्मीद करते हैं कि छात्र अब प्रदर्शन वापस ले लेंगे।’ सीबीआई जांच के फैसले पर बीजेपी सांसद मनोज तिवारी ने खुशी जताई।

उधर केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने छात्रों से प्रदर्शन वापस लेने की अपील करते हुए कहा कि सरकार ने प्रदर्शनकारी छात्रों की मांग मान ली है। हमारे सांसद मीनाक्षी लेखी और मनोज तिवारी लगातार छात्रों के संपर्क में थे।

उन्होंने आगे कहा की अब छात्र भी समझदार हैं, पढ़े-लिखे हैं। लिखित सूचना आने में कुछ औपचारिक प्रक्रियाएं होती हैं, जिसमें वक्त लगता है। उम्मीद करते हैं कि वह अपना प्रदर्शन अब वापस लेंगे।

कैंडिडेट्स का आरोप है कि ऑनलाइन होने वाली इस परीक्षा में न स्टूडेंट और न परीक्षक तक को कलम या मोबाइल अंदर ले जाने की अनुमति थी। इसके बावजूद सोशल मीडिया पर एग्जाम के दौरान ही प्रश्न पत्र का स्क्रीन शॉट वायरल हो गया था।

Loading...

रीतेश कुमार गुप्ता ने कहा कि 21 फरवरी को गणित का एग्जाम था। 15 मिनट बाद सूचना मिली कि परीक्षा रोक दी गई। चर्चा थी कि सोशल मीडिया में पेपर आउट हो चुके थे।

Follow us on facebook -