शिवसेना तोड़े ताजमहल , बनाए शिव मंदिर हम देंगे साथ : आजम खान

आज 6 दिसंबर को अयोध्या कांड हुवे 23 साल पूरे हो गए l हमेसा की तरह आज के दिन राजनेतिक आरोप प्रत्यारोप भी लगे l एक ओर हिन्दू समाज में राम मंदिर निर्माण के न होने की टीस है l वही दूसरी ओर आजम खान ने अयोध्या में बाबरी मस्जिद बनाए जाने की वकालत की है l और साथ ही ताजमहल को गिराकर शिव मंदिर बनाने की शिवसेना को चुनौती दी है l

revolpress-shiv-sena-azam-khan

अपने विवादित बयानों के लिए मशहूर आजम खान ने कहा कि, ”यदि आरएसएस अपने सहयोगी दल बीजेपी की सरकार आगे भी देश में चाहती है तो बस एक छोटा सा काम कर करना होगा। फिर बार-बार बीजेपी सरकार बनेगी। वह काम यह है कि बाबरी मस्जिद को फिर उसी जगह बनवाकर पूरे देश को संदेश दे कि अब कोई धर्म स्थल गिराया नहीं जाएगा। हम आरएसएस और भारतीय जनता पार्टी को आश्वस्त करते हैं कि बाबरी मस्जिद को उसी जगह बनवा देने से देश के सारे मुसलमान उनकी सत्ता में वापसी के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेंगे और वो देश की सत्ता पा लेंगे।”

आजम खान ने संघ प्रमुख मोहन भागवत को राम मंदिर निर्माण पर दोहरे मापदंड आपनाने वाला बताते हुवे कहा कि, ”उन्होंने केंद्र में सरकार बनने के बाद कहा था कि सरकार के पास कई बड़े काम हैं। अब दो राज्यों में हार के बाद उन्हें राम मंदिर याद आया है ।”

Loading...

आजम खान के इस ब्यान पर मुजफ्फरनगर में बीजेपी की फायरब्रांड नेत्री साध्वी प्राची ने पलटवार करते हुए कहा कि , ” संसार की कोई ताकत नहीं जो राम जन्मभूमि पर मंदिर बनने से रोक सके। मंदिर राम जन्मभूमि पर नहीं बनेगा तो क्या मक्का-मदीना में बनेगा।हिंदुस्तानी इतनी ताकत रखते हैं कि पाकिस्तान में भी राम मंदिर का निर्माण कर सकते हैं।”

आजम खान यही नहीं रुके उन्होंने बीजेपी के बाद शिवसेना पर भी हमला बोलते हुए कहा कि, ”शिवसेना ने एक और मंदिर बनाने की बात कही है । बाबरी मस्जिद को गिराने की शुरुआत शिवसेना ने ही की थी । हम आह्वान करना चाहते हैं शिवसेना को कि हम उनसे आगे चलेंगे जब वह शिव जी का मंदिर ताजमहल की जगह बनवाने को चलेंगे । वो ताजमहल पर पहला फावड़ा मारेंगे हम दूसरा मारेंगे । ताजमहल को गिरा देना चाहिए और वहां पर शिव जी का भव्य मंदिर बनवाना चाहिए । इस पर कोई विरोध और विवाद भी नहीं है । बाबारी मस्जिद तो अल्लाह का घर है इसलिए इतना विवाद हुआ । शिव जी का मंदिर बने ताजमहल की जगह इस पर दुनिया में किसी को कोई विवाद नहीं होना चाहिए । हम भी चाहते हैं कि शिवसेना अपना दूसरा बड़ा कारनामा करे ।”

ज्ञात रहे कि हाल ही में केंद्र की मोदी सरकार ने संसद में कहा था कि ताजमहल के मंदिर होने का कोई सबूत नहीं है ।

राम मंदिर निर्माण की मांग पर आजम खां ने आरएसएस को आंतकवादी संगठन बताते हुए कहा,”कोई भी व्यक्ति, संगठन या दल लोगों में नफरत फैलाता है तो उस व्यक्ति, संगठन और दल को आतंकवादी घोषित करना चाहिए । क्योंकि आरएसएस ने कानून से हटकर एक मांग की है और उसका माहौल बनाने की कोशिश की है । बहुत से दंगे कराए हैं और बहुत बड़े दंगे कराने की योजना है । आरएसएस को आतंकवादी संगठन घोषित करना चाहिए । हमेशा हमेशा कानून से हटकर नफरत फैलाने के लिए आतंकवादी संगठन घोषित किया जाना चाहिए और बैन लगना चाहिए, जिस तरह बापू की हत्या के बाद उस पर प्रतिबंध लगाया गया था ।”

Follow us on facebook -