पहलवान नरसिंह यादव को साजिश के तहत फंसाया गया, खाने में दवा मिलाने वाले आरोपी की पहचान हुई

दिल्ली : हाल ही में डोप टेस्ट में फंसे देश के शीर्ष पहलवानों में से एक नरसिंह यादव के साथ हुई साजिश की परतें अब खुलती नजर आ रही है। नरसिंह के साथियों और सोनीपत स्थित भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) के किचन के स्टाफ ने खाने में कुछ मिलाने वाले लड़के को पहचानने का दावा किया है।

Narsingh Yadav's Food Spiked By Another Player:

हालांकि अभी आरोपी लडके का नाम उजागर नहीं किया गया है। नरसिंह यादव को फंसाने की साजिश से जुड़े ये साक्ष्य बुधवार को राष्ट्रीय डोपिंग रोधक एजेंसी (नाडा) की अनुशासनात्मक समिति के सामने पेश किए जाएंगे। यह समिति ही नरसिंह यादव का भविष्य तय करेगी।

मीडिया से बातचीत में भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष ब्रजभूषण सिंह ने कहा कि सोनीपत कैंप में नरसिंह यादव के खाने में कथित दवाई मिलाने वाले आरोपी की पहचान कर ली गई है।

Loading...

भारतीय कुश्ती संघ अध्यक्ष ने बताया कि, जिस आरोपी की पहचान की गई है, वह एक सीनियर अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी का भाई है और छत्रसाल अखाड़े में प्रैक्टिस करता है। साई सेंटर के रसोइये ने भी इस आरोपी की पहचान की है।

कुश्ती संघ के अनुसार, पहचाने गए लड़के ने नरसिंह के खाने में दवाई मिलाने की बात भी मानी है। बता दें कि, नरसिंह पहले दिन से ही कह रहे हैं कि उन्हें किसी साज़िश के तहत फंसाया गया है।

वहीं ब्रजभूषण सिंह पहले ही पहलवान नरसिंह यादव के समर्थन में ऐलान कर चुके थे कि नरसिंह के खिलाफ साजिश हुई है। सिंह ने तो यहां तक आरोप लगाया कि सोनीपत के कैंप में नरसिंह के साथ कोई साजिश की गई। सिंह ने नरसिंह की तारीफ करते हुए कहा था कि 50 से ज्यादा कुश्ती लड़ चुके नरसिंह ने कभी भी डोप टेस्ट देने से मना नहीं किया। कई खिलाड़ी यह टेस्ट देने से मना करते हैं।

उन्होंने कहा कि, नरसिंह की इस बात की हर जगह तारीफ होती है और यहां तक की खुद नाडा भी नरसिंह की इस बात के लिए तारीफ कर चुका है। फेडरेशन का आरोप था कि 5 जून को खाने में छौंक लगाते समय प्रतिबंधित दवा डाली गई।

Follow us on facebook -