ओलंपिक में गोल्ड जीतने के लिए लगा दूंगा जी जान : योगेश्वर दत्त

2012 में लंदन ओलम्पिक में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम करने वाले भारतीय पहलवान योगेश्वेर दत्त एक बार फिर ओलम्पिक में अपना लोहा मनवाने को तैयार है मगर इस बार योगेश्वेर दत्त गोल्ड मेडल जीतकर तिरंगे का मान बढ़ाना चाहते है। इस पर योगेश्वर दत्त ने कहा है कि ओलम्पिक में गोल्ड जीतना हर खिलाड़ी का सपना होता है और अपने इस सपने के लिए वो जी जान लड़ा देंगे।

Yogeshwar-Dutt

सोनीपत के भैंसवाल कला गांव के रहने वाले योगेश्वर दत्त को 7 साल की उम्र में ही कुश्ती से उनका लगाव हो गया था। गांव में वे मास्टर सतबीर के अखाड़े में खेलने गए तो कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और सफलता की सीढ़ी चढ़ते चले गए। बता दें कि उनके बचपन के गुरु व् हरियाणा के दिग्गज रागनी गायक मास्टर सतबीर का गत सप्ताह में ही स्वर्गवास हुआ है। मास्टर सतबीर योगेश्वर दत्त के बेहद नजदीकी इंसानों में से एक थे।

योगेश्वर की मां सुशीला देवी और उनके पिता रामेहर दत्त टीचर थे। उनकी मां बताती हैं कि योगेश्वर का सफ़र इतना आसान नहीं रहा है। जब साल 2006 में योगेश्वर के पिता का देहांत हुआ तो उस समय योगेश्वर ने कुश्ती से सन्यास लेने का मन बना लिया था लेकिन मां और भाई के कहने पर वे दोबारा अखाड़े में उतरे और ओलम्पिक में देश के लिए ब्रॉन्ज़ मेडल जीता।

Loading...

yogeshwar6

योगेश्वर की मां का कहना है कि ओलम्पिक में गोल्ड जीतना ही योगेश्वर का सपना है। इसलिए आज तक उसने शादी नहीं की और अब उन्हें पक्का यकीन है इस बार योगेश्वर रियो में गोल्ड जीतकर आएगा और उसके बाद ही उसकी शादी करूंगी।

योगेश्वर ओलम्पिक में भारत के सबसे सीनियर खिलाडी है वो चौथी बार ओलम्पिक खेलों का हिस्सा बनेंगे। उनके नाम 2012 लन्दन ओलम्पिक में ब्रॉन्ज मेडल भी है पर योगेश्वर उससे संतुष्ट नहीं है उनका कहना है कि गोल्ड मेडल जीतकर ही दम लूंगा।

बता दें कि योगेश्वर को 2014 और 2015 में उन्हें काफी इंजरी रही है लेकिन अब वो पूरी तरह ठीक है और गोल्ड के लिए जान लगा देंगे। उनके साथ हरियाणा समेत पुरे देश से उनके चाहने वालों को भी उनके प्रदर्शन को लेकर काफी उम्मीदें हैं।

इससे पहले योगेश्वर दत्त के नाम लन्दन ओलम्पिक में ब्रॉन्ज, एशियन गेम्स 2014 गोल्ड, 2012 एशियन चैंपियनशिप में गोल्ड, 2006 दोहा एसियन गेम्स ब्रॉन्ज, 2010 दिल्ली कॉम्नवेलथ गेम्स में गोल्ड, 2014 कॉमन वेल्थ में गोल्ड जीता है।

Follow us on facebook -