रियो ओलंपिक: रूसी एथलीटों पर बैन बरकरार

रूस के रियो ओलंपिक खेलों में खेलने पर सस्पेंस बना हुआ है। इंटरनेशनल ओलंपिक कमिटी (आईओसी) रूस को रियो ओलंपिक खेलने से बैन कर सकता है।

रियो ओलंपिक:रूसी एथलीटों पर बैन बरकरार

खेलों की सबसे ऊंची मध्यस्थता कोर्ट ने रूस की उसके एथलीटों पर रियो ओलंपिक में भाग लेने से लगे बैन के खिलाफ अपील गुरुवार को खारिज कर दी जिससे रूस के 5 अगस्त से शुरू होने वाले रियो ओलंपिक से ही बाहर होने का खतरा और बढ़ गया है।

इंटरनेशनल एथलेटिक्स फेडरेशन (आईएएएफ) ने रूसी एथलीटों को प्रतिबंधित दवाओं के इस्तेमाल और सरकार प्रायोजित डोपिंग की रिपोर्ट्स के बाद ओलंपिक एथलेटिक्स मुकाबलों में हिस्सा लेने से बैन कर दिया था

Loading...

जिसके बाद रूसी ओलंपिक समिति और रूसी एथलेटिक्स फेडरेशन ने इस बैन के खिलाफ खेल पंचाट में अपील की थी लेकिन उसकी यह अपील खारिज हो गई।

खेल पंचाट के इस फैसले के बाद इस बात की संभावना प्रबल हो गई है कि आईओसी रूस को न केवल एथलेटिक्स में बल्कि ओलंपिक के अन्य खेलों में भी भाग लेने से बैन कर सकती है।

रूस की मौजूदा स्थिति से ओलंपिक आंदोलन में नया संकट आने की आशंका पैदा हो गई है ।

खेल पंचाट ने गुरुवार को अपने फैसले के बाद एक बयान में कहा कि कोर्ट बैन के खिलाफ इस अपील को खारिज करती है।

रूस के एक आधिकारिक प्रवक्ता दिमित्रे पेस्कोव ने कहा, ‘खेल पंचाट का यह फैसला बहुत निराशाजनक है। यह हमारे लिए पचा पाने वाला फैसला नहीं है।’

रूस की दो बार की स्वर्ण पदक विजेता स्टार पोल वाल्टर महिला एथलीट येलेना इसिन्बायेवा ने खेल पंचाट के इस फैसले को बेहद निराशाजनक करार देते हुये इसे रूसी एथलीटों की कब्रगाह बताया।

गौरतलब है कि सरकार प्रायोजित डोपिंग के आरोपों के चलते रूसी ट्रैक एंड फील्ड एथलीटों पर गत नवंबर को इंटरनेशनल लेवल पर प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेने से बैन कर दिया गया था

Follow us on facebook -