म्यांमार में मिली हिन्दूओ की कब्रगाह, नरसंहार के बाद रोहिंग्या मुसलमानो ने दफनाए शव

म्यांमार में मिली हिन्दूओ की कब्रगाह, नरसंहार के बाद रोहिंग्या मुसलमानो ने दफनाए शव

रोहिंग्या मुस्लिम आतंकियों द्वारा हिन्दुओ को बर्बरता पूर्वक मारकर बनाया हुआ कब्रिस्तान मिला

रोहिंग्या मुस्लिम आतंकियों को देश में मानवता आदि की दुहाई देते हुए शरण देने की मांग हो रही है उन्हीं रोहिंग्या मुस्लिम आतंकियों द्वारा किया गया एक कुकृत्य सामने आया है, इन रोहिंग्या मुस्लिम आतंकियों द्वारा बर्बरता पूर्वक मारे गये हिन्दुओ की सामूहिक कब्रें मिलीं हैं।

म्यांमार के हिंसाग्रस्त रखाइन प्रांत में 28 हिंदुओं की सामूहिक कब्र मिली है। म्यांमार सेना का दावा है कि उनकी हत्या रोहिंग्या मुस्लिम आतंकियों ने की है। इस घोषणा की किसी स्वतंत्र एजेंसी से पुष्टि नहीं की जा सकी, लेकिन म्यांमार सरकार ने इसकी पुष्टि की है।

सेना प्रमुख की वेबसाइट पर जारी बयान के मुताबिक, ‘सुरक्षा बलों ने कब्र खोदकर 28 हिंदुओं के शव बरामद किए हैं। अराकन रोहिंग्या साल्वेशन आर्मी (एआरएसए) ने बेहद हिंसक और बर्बर तरीके से उनकी हत्या की है। इनमें 20 महिलाएं और 8 पुरुष हैं। इनमें से छह 10 साल से भी कम उम्र के लड़के हैं।’

Loading...

सेना प्रमुख के मुताबिक, ये बॉ क्या नामक जिस स्थान पर ये शव मिले हैं वह खा मौंग सीक नामक हिंदू-मुस्लिम समुदाय की घनी बस्ती के नजदीक है। उत्तरी रखाइन प्रांत में एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि हर गढ्ढे में हिंदुओं के 10 से 15 शवों को दफनाया गया था।

एआरएसए ही वह संगठन है जिसकी ओर से पुलिस पोस्ट पर किए गए हमलों के बाद म्यांमार सेना ने कार्रवाई शुरू की थी। हालांकि संयुक्त राष्ट्र का मानना है कि यह अल्पसंख्यक मुस्लिमों का सफाया करने की कोशिश है।

सैन्य कार्रवाई के बाद से महीनेभर के भीतर 4.30 लाख से ज्यादा रोहिंग्या मुस्लिम क्षेत्र छोड़कर बांग्लादेश जा चुके हैं। रोहिंग्या आतंकियों द्वारा धमकाए जाने की वजह से क्षेत्र में रहने वाले करीब 30 हजार हिंदू और बौद्ध भी विस्थापित हुए हैं। इलाके के हिंदुओं ने बताया कि 25 अगस्त को आतंकी उनके इलाके में घुस आए थे। जो भी उनके रास्ते में आया उन्हें मार दिया गया और कइयों को उठाकर वे अपने साथ जंगल में ले गए।

Follow us on facebook -